कांग्रेस नेता अशोक गहलोत के “पानी से बिजली निकालने से पानी में कुछ नहीं बचेगा” वाले वयान की सच्चाई!

आज देश की राजनीती की स्तर कितनी निचे गिरते जा रही है ये किसी को बताने की जरूरत नहीं है! देश के नेता किसी भी तरह से जनता को लुभाने के मूड में दिख रहे है! वो इसके लिए कुछ भी करने को तैयार है, कई नेता तो ऐसे वयान दे डालते है जिसका वास्तविकता से कोई लेना देना ही नहीं है! चाहे वो किसी भी पार्टी के नेता हो, हमारा उनसे एक ही सवाल है की जनता को गुमराह न करे और लोगो से सिर्फ और सिर्फ समाज कल्याण और विकास के नाम पर वोट मांगे! लेकिन इनदिनों ऐसा होता नहीं दिख रहा है, हर कोई लोगो को बाटने और वोट हासिल करने में लगा हुआ है!

Loading...

जैसे जैसे 2019 के आम चुनाव नजदीक आते जा रहे है, वैसे वैसे नेताओ के नए नए दिमागी मुद्दे भी सामने आ रहे है! आज हर पार्टी देश के जवानो और किसानो की बात कर रही है! कई राज्यों में किसान आंदोलन के नाम पर राजनितिक रोटियां सेंकी जा रही है! आंदोलन हो रहे है जिसे किसी न किसी पार्टी का समर्थन भी प्राप्त है! लेकिन इनसब के बिच कुछ ऐसे लोग भी काम कर रहे है जो नेताओ के वयानो को तोड़ मरोड़ कर पेश कर रहे है! ऐसा ही एक वीडियो इनदिनों सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है!

आज हम बात करते है अशोक गहलोत की, जो की वरिष्ट कांग्रेस नेता है और कई बार राजस्थान के मुख्यमंत्री रह चुके है! इनदिनों अशोक गहलोत का एक वीडियो सोशल मीडिया पर धड़्डले से वायरल हो रहा है! जिसमे उन्हें ये कहते दिखाया जा रहा है कि “अगर पानी से विजली निकल ली जाएगी तो किसानो को मिलेगा क्या, उसकी तगत कमजोर हो जाएगी!” आपको बता दे वैसे ये डायलॉग हिंदी फिल्म शूल का है जिसमे बच्चू यादव नाम का नेता यह कहता दिखाया गया है!

Loading...

जानिए इस वीडियो की सच्चाई क्या है-

दरअसल यह वीडियो आल इंडिया कांग्रेस कमिटी की एक प्रेस कांफ्रेंस का है! इसमें अशोक गहलोत ने नरेंद्र मोदी सरकार निशाना साधा है उन्होंने सरकार के हर गांव में बिजली पहुंचाने वाले दावे पर कटाक्ष किया है! जब आप इस प्रेस कांफ्रेंस का पूरा वीडियो देखेंगे तो आप समझ जायेंगे! अशोक गहलोत अपने बयान कह रहे हैं कि केंद्र सरकार 18,000 गांवों में बिजली पहुंचाने का दावा कर रही है! आजादी के समय सभी गांव अंधेरे में थे! वहां किसने बिजली पहुंचाई! उन्होंने नेहरू के ज़माने में बांध से बिजली बनाने के लेकर किये गए गलत प्रचार का हवाला देते हुए कहते हैं-

“मुझे याद है बचपन में जब जनसंघ हुआ करता था! भाखड़ा डैम बना था तब यही जनसंघ वाले घूम-घूमकर प्रचार करते थे. पंडित नेहरू का दिमाग खाराब हुआ है! यह बांध बना रहा है! उसमें बिजलीघर बनाएगा, जब पानी में से बिजली निकल जाएगी तो उसकी ताकत ही खत्म हो जाएगी! आपके खेतों में वो पानी काम क्या आएगा”

अब जरा पूरा वीडियो देखिये

देश में करीब 6 लाख गांव हैं, यदि 18 हजार गांवों में मोदी जी ने बिजली पहुंचाई तो फिर 5 लाख 82 हजार गांवों में बिजली किसने पहुंचाई? मोदी जी झूठ बोलने की हदें पार कर चुके हैं।

Posted by Ashok Gehlot on Saturday, May 26, 2018

आपकी जानकारी के लिए बता दे के सोशल मीडिया पर आज कल किसी के भी वीडियो को तोड़ मरोड़ कर पेश कर दिया जाता है, जिसपर लोग आँख बंद कर विश्वास कर लेते है और धड़्डले से साँझा करते है! लेकिन आज जरुरत है जागरूक बनने कि और किसी भी चीज पर आँख बंद करके विश्वास न करने की!

loading...