इस वजह से ममता बनर्जी के खिलाफ FIR हुई दर्ज, अवैध बांग्लादेशियों में मची हड़कंप..

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के लिए असम से एक बुरी खबर आ रही है! असम में ममता बनर्जी के खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई है! ये एफआईआर गुरुवार को गुवाहाटी शहर में दर्ज की गई! ममता बनर्जी पर ये एफआईआर असम में एनआरसी के अपडेशन के संबंध में दिए गए उनके बयान को लेकर दर्ज हुई है! मीडिया रिपोर्ट के अनुसार एक एफआईआर गुवाहाटी में दिसपुर पुलिस स्टेशन में दर्ज हुई! यह स्थानीय संगठन कृषक श्रमिक कल्याण परिषद (केएसकेपी) ने दर्ज कराई है!

गुवाहाटी के पुलिस कमिश्नर हिरेन नाथ ने इस बात की पुष्टि करते हुए बताया कि दिसपुर पुलिस थाने को ममता बनर्जी के खिलाफ एफआईआर प्राप्त हुई है! इस एफआईआर से पहले गुरुवार सुबह वरिष्ठ वकील बिजान महाजन ने भी एडवोकेट एसोसिएशन के साथ मिलकर गुवाहाटी के लताचिल पुलिस थाने में ममता बनर्जी के खिलाफ दर्ज कराई थी!

असम में बयान देते समय पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने असम में नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन (एनआरसी) अपडेशन का जो काम चल रहा है उसे भाजपा सरकार की बंगालियों को राज्य से बाहर करने की साजिश बताया है!

इसी के साथ अपने बयान में ममता बनर्जी ने बुधवार को केन्द्र सरकार को धमकाते हुए कहा था कि वह आग से ना खेलें! उन्होंने आरोप लगाया कि केन्द्र सरकार ने एनआरसी के नाम पर असम से करीब 1 करोड़ 80 लाख लोगों को बाहर करने की योजना बनाई है!

असम में दिए ममता बनर्जी के इस बयान के बाद होजई से बीजेपी विधायक शिलादित्य देब ने कहा कि ममता बनर्जी ने ये बयान सिर्फ बांग्लादेशी मुस्लिमों के दिल जीतने के लिए दिया है!

जिनके वोटों पर वह निर्भर है! देब ने ममता बनर्जी से सवाल किया कि ममता बनर्जी को कैसे पता चला कि असम में असल में कितने बांग्लादेशी मुस्लिम रह रहे हैं ? इसका साफ मतलब यह है कि उन्हें बांग्लादेशियों की चिंता है! शिलादित्य देब ने कहा कि बांग्लादेशी मुस्लिमों की घुसपैठ के कारण पश्चिम बंगाल में हालात बहुत खराब हैं!