उत्तर प्रदेश से आयी BJP के लिए अच्छी खबर- बुंदेलखंड फिर हुआ भगवामय, सभी जिला सहकारी बैंकों पर भाजपा का कब्जा..

झांसी: पहले लोकसभा चुनाव और फिर विधानसभा चुनाव में बुंदेलखंड की सारी सीटें जीतने वाली भाजपा ने अब जिला सहकारी बैंक के चुनाव में भगवा परचम फहरा दिया है। इस बार सपा-बसपा के इरादों को ध्वस्त करते हुए भारतीय जनता पार्टी ने बुंदेलखंड के सभी जिला सहकारी बैंकों पर कब्जा जमा लिया है। इसमें केवल महोबा-हमीरपुर में ही मतदान की नौबत आई, बाकी की सारी सीटों पर सभापति का चुनाव निर्विरोध ही हो गया।

बरकरार है पार्टी का बेहतरीन प्रदर्शन

गौरतलब है कि वर्ष-2014 के लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने बुंदेलखंड की चारों सीटों पर कब्जा जमाया था। इसके बाद पार्टी का यह प्रदर्शन 2017 के विधानसभा चुनाव में भी बरकरार रहा। विधानसभा चुनाव में पार्टी ने बुंदेलखंड की सभी 19 सीटें जीतकर इतिहास रचा। इस बार भारतीय जनता पार्टी ने जिला सहकारी बैंक के चुनाव में सभी पांच जिला सहकारी बैंकों पर भगवा लहराकर सपा-बसपा के इरादों पर पानी फेर दिया।

ये रही बुंदेलखंड में स्थिति

इस बार के जिला सहकारी बैंक के चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने व्यवस्थित तरीके से तैयारी की। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि झांसी जिले की केवल एक सीट पर दूसरा प्रत्याशी जीत सका। नौ में से आठ प्रत्याशी मतदान के दौरान जीते, जबकि चार पहले ही निर्विरोध हो चुके थे। इसी तरह से सभापति पद के लिए भी पार्टी के जयदेव पुरोहित निर्विरोध चुन लिए गए। उधर, जालौन में भारतीय जनता पार्टी के उदय सिंह पिंडारी जिला सहकारी बैंक के सभापति चुने गए।

ललितपुर में जिला सहकारी बैंक के सभापति पद पर भारतीय जनता पार्टी के हरीराम निरंजन ने कब्जा जमाया। ललितपुर में भी मतदान की स्थिति नहीं बनी। उधर, हमीरपुर-महोबा की संयुक्त जिला सहकारी बैंक में भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी चक्रपाणि त्रिपाठी को निर्दलीय राजू तिवारी ने चुनौती दी। इस सीट पर भारतीय जनता पार्टी के चक्रपाणि ने दो वोट से जीत दर्ज की। इसके अलावा बांदा-चित्रकूट की संयुक्त जिला सहकारी बैंक पर भाजपा के बद्री विशाल त्रिपाठी निर्विरोध चुने गए।