वीडियो: राष्ट्रवादी हिन्दू दीपक शर्मा ने खोला जिग्नेश और अंबेडकर के पोते का कच्चा-चिट्ठा..

देश के भीतर जिस प्रकार से जातिगत आरक्षण और जाति के नाम पर एक ही साथ आने का प्रयास किया जा रहा है उसको देख कर कोई भी यह कह सकता है कि हमारे देश के अंदर जाति के नाम पर हिंसा फैलाने वाले लोगों में भीम आर्मी वाले सबसे ऊपर हैं जिग्नेश मेवानी द्वारा कराए गए जहर का तड़का लगाते हुए भीम आर्मी वालों ने ना सिर्फ भारत माता की खिलाफ नारे लगाए बल्कि देश के टुकडे करने वालों के साथ मिलकर उन्होंने देश के टुकडे करने के नारे लगाए और शायद इसीलिए हम कह रहे हैं कि आप भीम आर्मी के नाम पर जातिगत हिंसा फैलाने का एक बड़ी साजिश है!

ऐसी साजिश को एक्सपोर्ट करते हुए एक आम नागरिक जिसका नाम दीपक शर्मा है उसने एक Facebook लाइक करते हुए उसी जगह से Facebook लाइक किया जहां पर 2 दिन पहले जाहिर की थी उस ने दिखाया कि किस प्रकार से जंतर मंतर के पास खड़े होकर वह लोगों को समझा रहा था तभी भीम आर्मी वाले कुछ लोग आकर उसे समझाने लगे और उसको जेल करवा दी जेल से बाहर निकलने के बाद भी वह अपने साथ दो और लोगों को लेकर वहां पर जा बैठा और उसने बताया कि हरामजादे होते ही ऐसे हैं!

यह रहा वो वीडियो लिंक जिसमें दीपक शर्मा ने अपनी कहानी सुनाई:-

इसके बाद दीपक शर्मा ने एक कर यह बात बताएं कि किस प्रकार से यह लोग जातिगत हिंसा के नाम पर हमारे देश के अंदर समाज को बांटने का प्रयास कर रहे हैं यह जिग्नेश मेवानी हार्दिक पटेल और कन्हैया कुमार जैसे लोगों को अब जरूरत है एक ऐसा सबक सिखाने की विधियां जीवन भर कभी ऐसा दुस्साहस करने का प्रयास ना कर सके हालांकि यह वीडियो YouTube पर विवाद हो गया है जिसका आपको नीचे दिए हुए वीडियो में दे रहे हैं!