महा सर्वे:- गुजरात चुनाव से पहले चुनावी सर्वे का नतीजा आया सामने ,आंकड़े चौकाने वाले….

प्रधानमन्त्री मोदी के लिए इस देश के लोगों के मन में अभी भी इतना सम्मान भरा है की वो मोदीजी के नाम पर अपनी वोटिंग कर रहे हैं और इसका सबसे बड़ा उदहारण है मोदी जी का गुजरात में लगातार तीन बड़ी जीत और अभी हाल ही में प्रधानमन्त्री मोदी के नाम पर उत्तर प्रदेश चुनाव जित चुकी भाजपा का मजबूत पक्ष.यह बात किसी से छिपी नहीं है भारत में गुजरात के चुनाव होने में अब ज्यादा समय नहीं है

और गुजरात चुनावों की तारीखें कभी भी देश के सामने अ सकती है और गुजरात के लोगों को जल्द ही इस देश के सबसे बड़े चुनावों में से एक में वोटिंग करने और अपना मत देने के लिए सडकों पर उतर और पोलिंग बूथ में जाने के लिए तैयार रहना चाहिए और इस एवज में बहुत से स्र्वेज़ भी हर साल कोई न कोई एजेंसी करती ही रहती है और शयद इसीलिए इस देश के लोगों के अंदर इस बात की उत्सुकता रहती है की उनका पसंदीदा सर्वे एजेंसी कब उनके उस चुनाव के लिए अपना सर्वे लाएगी जिसका उनको इतने दिनों से इंतजार था.तो इन इस बारे में अब आपको ज्यादा इंतजार करने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि अब गुजरात चुनावों पर होने वाला सर्वे सबके सामने आ चुका है.

यह सर्वे किया गया है लोकनीति सेंटर फॉर स्टडीज ऑफ़ डेवलपिंगसोसी सोसाइटीज (CSDS) के एक ट्रैकर सर्वे में तो भाजपा को गिजारत में अब तक की सबसे बड़ी जीत मिलती हुई दिख रही है.मौजूदा खबर के अनुसार बता दें की ये सर्वे अगस्त में हुआ था जिसमें ४००० से अधिक रैंडम वोटर्स ने वोटिंग की थी.इनमें से ५९% वोटर्स ने यह कहा है की वे भाजपा के लिए वोट करेंगे जबकि २९% वोटर्स ने कहा है की वे कांग्रेस के लिए वोट करेंगे.इसके साथ ही एक और दिलचस्प डाटा सामने आ रहा है और वो ये है की लोग किस चेहरे को अगले गुजरात CMके रूप में देखना चाहते हैं

.यहं भी भाजपा का पलड़ा ही भारी रहा है.२४% लोफों ने विजय रुपानी जो इस समय गुजरात के मुख्यमंत्री हैं उनका नाम लिया वहीँ ७% वोटर्स ने नरेंद्र मोदी को ही गुजरात का अगला मुख्यंत्री चुनने की बात कही है.वहीँ कांग्रेस के ईभी नेता को २% से ज्यादा का रेस्पोंस नहीं मिला है.आपको बात दें की इस सर्वे में जो सबसे चौकाने वाला खुलासा हुआ है वो यह है की अभी भी हार्दिक पटेल की किसी भी बात को मानने के लिए पटेल वोटर्स बिलकुल भी तैयार नहीं है और शायद इसीलिए कांग्रेस के किसी भी चेहरे को २% से ज्यादा का वोट नहीं मिला है.

साफ़ बात है की अगली सरकार गुजरात एन भाजपा की ही बनेगी और यही कारन है की कांग्रेस के लिए यह एक हताशा का माहौल है और कांग्रेस के लिए एक बहुत ही बड़ा झटका हो सकता है क्योंकि भारत में अपना वही खोया सम्मान पाने की जुगत में लगी कांग्रेस पार्टी अपनी शुरुआत गुजरात से ही करना चाहती थी लेकिन अब यह असंभव सा प्रतीत होता है या शायद असंभव से भी एक कदम आगे की बात है.