आरक्षण के से उपजे नेता हार्दिक पटेल, मुँह छुपाकर राहुल गांधी के से मिलने पहुंचे होटल!

होटल ताज में आख़िरकार हार्दिक पटेल ने राहुल गाँधी से मुलाकात कर ही ली, अगर आप दैनिक भारत के पाठक हैं तो आपको ध्यान होगा हमने सुबह 11 बजे ही बताया था की हार्दिक पटेल आज राहुल गाँधी से मिलेंगे, हार्दिक पटेल की तरफ से इस खबर को नकारा जा रहा था पर होटल ताज में मुँह छुपाकर हार्दिक पटेल पहुंचे और राहुल गाँधी से काफी देर तक मुलाकात की!

अगर हार्दिक पटेल कुछ गलत नहीं कर रहे तो मुँह पर रुमाल रखकर मुँह छुपाने की क्या जरुरत है, पटेलों को बेच दिया कांग्रेस के हाथों, हिन्दुओ को तोड़ दिया, हिन्दुओ में जातिवाद का जहर भर दिया, और इसी कारण मुँह छुपाकर जाना पड़ा, अन्यथा मुँह छुपाने की क्या जरुरत है!

हिन्दू समाज जहाँ एकजुट होता है वहां हार्दिक पटेल जैसे लोग हिन्दुओ की एकजुटता को ख़त्म करने के लिए चंद पैसा लेकर खड़े हो जाते है, सोमनाथ मंदिर पर इस्लामिक हमलावरों ने कई बार हमला किया, और हर बार गद्दारों ने इस्लामिक हमलावरों का साथ दिया, हिन्दुओ को धोखा हिन्दुओ ने ही दिया है!

जयचंद हो या हार्दिक पटेल, सिकंदर के समय का अम्भी कुमार हो या हार्दिक पटेल, हर बार हिन्दुओ के साथ धोखा किया गया, जो नेता पटेलों की लड़ाई लड़ने का दम भर रहा था, उसने आखिर उस कांग्रेस से सौदा कर लिया जिस कांग्रेस ने सरदार पटेल को मौत के बाद भारत रत्न देने से इंकार कर दिया, उनकी मौत 1950 में हुई, पर उन्हें भारत रत्न 1991 में दिया गया जब मुद्दे को उठाया गया!

हिन्दुओ में जातिवाद भरकर, हिन्दुओ को जातियों में तोड़कर चुनाव से पहले कोंग्रेसी निकला हार्दिक पटेल और गुजरात के पटेलों को ये चीज देख लेनी चाहिए, मुँह पर रुलाम रखकर हार्दिक पटेल ने पटेलों के वोट का सौदा कांग्रेस के साथ कर दिया!