‘जय भीम’ का नारा देकर हिन्दू देवी-देवताओ का अपमान, आखिर ये मैडम चाहती क्या है?

नई दिल्ली: पुरे भारत में जब जब हिन्दू एक होने की कोशिश करता है तब-तब हिन्दू विरोधी तकते उन्हें आपस में लड़ाकर जाती के नाम पर अगड़ो पिछडो में बाटने का काम करती है! हिन्दू एकता का तजा उदहारण है उत्तर प्रदेश का विधान सभा चुनाव, हिन्दू एक हुआ और नतीजे बिलकुल साफ़ तौर पर सामने आया! बीजेपी की पूर्ण बहुमत की सरकार बनी! लेकिन कुछ तथाकथित पढ़े लिखे दलित वर्ग के लोग जय भीम का नारा देकर हिन्दुओं को आपस में लड़ा रहे है! उन्होंने दलितों के नाम पर भीम आर्मी की स्थापना की जिसका काम है दलितों के दिमाग में सवर्णो के खिलाफ जहर भरना!

ये जो पढ़े लिखे दलित है वो आरक्षण के रूप में मलाई खा रहे है और जो आरक्षण का जरुरत मंद है उसे ये आगे बढ़ने का मौका तक नहीं देते! इनका सिर्फ यही काम है की कैसे दलितों के एक बड़े तबके को गुमराह किया जाये और अशिक्षित रखा जाये, ताकि पिछड़े हुए दलित बिना सोचे समझे इनके नापाक मंसूबो को आगे बढ़ाये और इनका फायदा हो!

हमे आपको एक वीडियो दिखने जा रहे है जिसमे ये मोहतरमा देखकर लग रही है की काफी शिक्षित है लेकिन जब इन्होने मह खोला तो इनका असली रूप सामने आ गया! वीडियो में ये लड़की जय भीम का नारा देकर हिन्दू देवी देवताओ के खिलाफ जहर उगलती दिख रही है! वीडियो की शुरुआत में आप देख सकते है की इस लड़की ने जय भीम बोलै और उसके बाद हिन्दू देवी देवताओ के बारे में अपनी नीच मानसिकता का कीचड़ फैलाया! इसने माँ काली के बारे में कहा, भ्रह्मा जी के बारे में अनाफ-सनाफ बोला और फिर श्री कृष्ण को कहा की वो लड़कियों के कपडे लेकर भाग जाता था वो भगवन कैसे हो सकता है!

हमारा मानना है की इन जैसे लोगो को आरक्षण नहीं बल्कि अच्छे संस्कार की जरुरत है, अगर इनके माता पिता इन्हे अच्छे संस्कार देते तो शायद ये आज अपने धर्म के बारे में ऐसा कुछ भी नहीं बोलती और लोगो को हिन्दू धर्म के बारे में जागरूक करती! इन्होने कहा की लोग इन्हे गालिया देते है, अगर कोई ऐसा कर्म करेगा तो उसे फूलो की हार की अपेक्षा नहीं करनी चाहिए!

ऐसे ही लोग समाज में जाती और दलित सवर्ण के नाम पर अराजकता फैलाते है, और इनका साथ देने वाले अशिक्षित दलितों पता भी नहीं होता की उनका फ़ायदा उठाया जा रहा है! और इन जैसे एजेंटो के माध्यम से नेता अपनी राजनितिक रोटियां सेक रहे है! इस वीडियो को देखिये कुछ ऐसा ही मामला लगता है कि दलितों को सवर्णो के खिलाफ भड़काओ हिन्दू देवी देवताओ का अपमान करो और लोगो को अलग थलग करो!

देखिये ये मोहतरमा किस तरह नफरत फैला रही है:-