जिग्नेश मेवानी ने अर्णब गोस्वामी के चैनल का माइक हटाने को कहा.. तो टीवी पत्रकारों ने किया कुछ ऐसा कि जिग्नेश की हो गई फजीहत

चेन्नई: दलित राजनीति करके विधायक बनने वाले जिग्नेश मेवाणी को पिछले दिनों मीडिया वालों ने ज्यादा ही भाव दे दिया जिसकी वजह से वे आसमान में उड़ने लगे. पहली बार विधायक बने दलित नेता जिग्‍नेश मेवानी टीवी पत्रकारों से उलझ गए हैं! वह एक समारोह में शिरकत करने मंगलवार, 16 जनवरी को चेन्‍नई आए हुए थे! सामाजिक कार्यकर्ताओं, छात्रों और अकादमिक जगत से जुड़े लोगों से मुलाकात के बाद उन्‍होंने एक प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन किया था। इसमें अखबार के साथ ही टीवी पत्रकार भी आमंत्रित थे!

जिग्नेश मेवाणी बार बार रिपब्लिक के पत्रकार को वहां से भगाने की धमकी देते रहे, उन्होंने कहा कि जब तक यहाँ से रिपब्लिक का माइक नहीं हटेगा मैं बोलूँगा ही नहीं! उनकी जिद देखकर सभी न्‍यूज चैनलों के पत्रकारों ने एकजुट होकर गुजरात के विधायक का ही बहिष्‍कार कर दिया और वहां से बाहर चले गए!

उसके बाद जिग्नेश मेवाणी को वहां से बिना प्रेस वार्ता किये ही लौटना पड़ा! इससे पहले जंतर मंतर पर भी जिग्नेश के समर्थकों ने रिपब्लिक टीवी की महिला पत्रकार को अश्लील इशारे करके परेशान किया था!

खबरों के मुताबिक जिग्‍नेश मेवानी चेन्‍नई के कायदे-मिल्‍लत इंटरनेशनल एकेडमी ऑफ मीडिया स्‍टडीज में आयोजित एक कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे थे! कार्यक्रम खत्‍म होने के बाद प्रेस कांफ्रेंस की तैयारी चल रही थी! टीवी चैनल के पत्रकार अपने-अपने माइक टेबल पर रख रहे थे। इसी दौरान जिग्‍नेश रिपब्लिक टीवी का माइक देख कर भड़क गए! वह कहने लगे, ‘रिपब्लिक टीवी का रिपोर्टर कौन है? मैं रिपब्लिक से बात नहीं करना चाहता!’

इस बीच, कुछ पत्रकारों ने स्थिति को सामान्‍य बनाने की कोशिश करते हुए उनसे कहा क‍ि यह महज बाइट लेने के लिए है, विशेष इंटरव्‍यू के लिए नहीं! तब जिग्‍नेश ने कथित तौर पर कहा कि रिपब्लिक टीवी के साथ बात न करने की उनकी नीति है! दलित नेता ने वहां मौजूद पत्रकारों से कहा, ‘मैं सवालों का जवाब नहीं दूंगा! पहले माइक हटाइए!’

इसके बाद टाइम्‍स नाउ के रिपोर्टर शब्‍बीर अहमद ने जिग्‍नेश से कहा, ‘आप ऐसी मांग नहीं कर सकते हैं! हमलोग ऐसा प्रेस कांफ्रेंस नहीं चाहते हैं! आप जा सकते हैं!’ अन्‍य पत्रकारों ने भी रिपब्लिक टीवी के पत्रकार के साथ एकजुटता दिखाई!