कही ये केजरीवाल की साजिश तो नही ? पूर्व प्रधान सचिव राजेंद्र कुमार CBI पर लगाए आरोप!

0
103

नई दिल्ली : भ्रष्टाचार के मामले में साल 2016 में सीबीआई द्वारा गिरफ्तार किये गए दिल्ली के सीएम अरविन्द केरीवाल के पूर्व प्रधान सचिव राजेंद्र कुमार ने वॉलंटरी रिटायरमेंट (VRS) माँगा है। साथ ही 12 पन्ने का एक मार्मिक पत्र लिखकर राजेन्द्र कुमार ने सीबीआई पर सनसनी खेज आरोप भी लगाए हैं! राजेंद्र कुमार ने अपने पत्र में लिखा है कि सीबीआई ने दिल्ली के सीएम अरविन्द केजरीवाल और उन्हें फंसाने के लिए हर तरह का प्रयास किया! कुमार ने लिखा है कि उन पर केजरीवाल के खिलाफ बयान देने के लिए सीबीआई ने दबाव डाला था और ऐसा करने पर उन्हें छोड़ने की बात कही थी!

राजेंद्र कुमार ने लेटर में लिखा है, सीबीआई ने उन पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ बयान देने के लिए दबाव डाला था और ऐसा करने पर उन्हें छोड़ने की बात भी सीबीआई ने कही थी! उन्होंने सीबीआइ पर आरोप लगाया कि उनसे जबरन मेल का एक्सेस हासिल किया गया और धमकी भी दी गई!

लेटर में राजेंद्र कुमार ने लिखा है कि उन्हें मानसिक और शारीरिक रूप से प्रताड़ित किया जाता रहा, लेकिन वह अपने मूल्यों से नहीं हटे! कुमार का कहना है कि बीएके बंसल सूइसाइड केस के बाद वह बार-बार यह सोच रहे हैं कि क्या देश में न्याय है? कुमार का कहना है कि केंद्र सरकार और दिल्ली सरकार के झगड़े में उन्हें मोहरा बनाया गया!

राजेंद्र कुमार का कहना है, सीबीआई ने उन्हें और मुख्यमंत्री को फंसाने के लिए लोगों पर दबाव डाला और बहुत से लोगों की पिटाई भी की! लेटर में कुमार ने लिखा है, इस सिस्टम पर उन्हें बहुत विश्वास था, क्योंकि एक गरीब परिवार से आना वाला शख्स भी सिविल सर्विसेज एग्जाम में सफलता पाकर आईएएस बन गया था! लेकिन आज हालात बदल गए हैं!’

राजेंद्र कुमार के मुताबिक, सुप्रीम कोर्ट के कई आदेशों का उल्लंघन किया गया और उनका निलंबन गैरकानूनी तरीके से दो अक्टूबर को फिर से 180 दिनों के लिए बढ़ा दिया गया.

कुमार ने लिखा है कि एसीबी ने एक महीने तक उन सवालों को लेकर पूछताछ की, जिनका उनसे कोई लेना-देना ही नहीं था! सीबीआई पर उन्होंने आरोप लगाया कि उनसे जबरन मेल का एक्सेस हासिल किया गया और धमकी भी दी गई! सीबीआई ने झूठा केस दर्ज किया और पूछताछ के दौरान बार-बार कहा कि उन्हें छोड़ दिया जाएगा, अगर वह दिल्ली के मुख्यमंत्री के खिलाफ बयान दे दें!

बता दें कि राजेंद्र कुमार अरविंद केजरीवाल के सबसे भरोसेमंद और प्रिय नौकरशाहों में से एक हैं! सीबीआई ने पिछले साल जुलाई में भ्रष्टाचार के आरोप में राजेंद्र कुमार को गिरफ्तार किया था. सीबीआई 50 करोड़ रुपये के कथित घोटाले से जुड़े केस में गिरफ्तारी से पहले उनसे कई महीनों से पूछताछ कर रही थी! राजेंद्र की नियुक्ति को लेकर केजरीवाल दिल्ली के उपराज्यपाल नजीब जंग से भी जंग कर चुके हैं और उनकी अनदेखी करते हुए नियुक्ति कर दी थी!

Share with Friends
FacebookTwitterGoogle+

NO COMMENTS