कर्नाटक में BJP की सरकार बनने के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट गए रामजेठमलानी, लोगों ने औकात याद दिला कर रख दी।

कर्नाटक विधानसभा चुनाव 2018 के नतीजे अब सबके सामने आ गए है। बीएस येदियुरप्पा को राजभवन में राज्यपाल वजूभाई वाला ने पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई. येदियुरप्पा कर्नाटक के 25वें मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ली. यह तीसरी बार है जब येदियुरप्पा को कर्नाटक के मुख्यमंत्री की कुर्सी मिली है. उनके स्वागत के लिए राजभवन के बाहर ज़बरदस्त तैयारियां की गई. जगह-जगह ढोल-नगाड़े बज रहे थे. आज सिर्फ येदियुरप्पा ने ही शपथ ली

वरिष्ठ अधिवक्ता राम जेठमलानी ने कर्नाटक में भाजपा को सरकार बनाने का आमंत्रण देने के राज्यपाल के फैसले के खिलाफ आज (17 मई) उच्चतम न्यायालय का रुख किया। उन्होंने राज्यपाल के फैसले को ‘‘संवैधानिक शक्ति का घोर दुरुपयोग’’ बताया। राम जेठमलानी ने कहा, “राज्यपाल का आदेश संवैाधानिक शक्तियों का घोर दुरुपयोग है, इससे वह जिस पर विराजमान हैं उसकी मर्यादा को ठेस पहुंचा है।”

राम जेठमलानी के इस फैसले पर यूज़र्स ने कड़ी प्रतिक्रिया देने शरू कर दिया। क्योंकि जब यही कार्य कांग्रेस ने किए थे तब किसी को कोई समस्या नही थी। लेकिन अब ये लोग बीजेपी को टारगेट कर रहे हैं। ऐसे में मुंहतोड़ जवाब मिलना जायज़ है।