राम सुब्रहम्नयन ने ट्विटर पर PM मोदी को दी गाली, अब कहा है रविश कुमार- क्या केजरीवाल से पूछेंगे क्यों फॉलो करते है?

नई दिल्ली: अरविन्द केजरीवाल और आप पार्टी के समर्थक भारतीय एड फ़िल्ममेकर और एक्टिविस्ट राम सुब्रहम्नयन ने हमेशा से आम आदमी पार्टी को अपना पूर्ण समर्थन दिया है, चाहे वो दिल्ली चुनाव हो या फिर कोई और चुनाव! उन्होंने एक स्टार प्रचारक के तौर पर पार्टी के लिए प्रचार प्रसार किया था! सुब्रहम्नयन अक्सर देश के राजनीतिक हालातों पर अपनी राय रखने वाले इस फिल्म मेकर ने कुछ दिनों पहले ट्विटर पर यह एलान कर कहा था कि “पीएम मोदी पर जूता फेकने वाले को 1 लाख रूपयों का इनाम दूंगा!

अब एक बार फिर से राम सुब्रहम्नयन पीएम मोदी को लेकर आपत्तिजनक भाषा का इस्तेमाल किया है! लेकिन इस बार राष्ट्रवादियों ने पीएम के लिए ऐसी भाषा इस्तेमाल करने पर सुब्रहम्नयन के खिलाफ केस दर्ज करने का मन बनाया है! राम सुब्रमनियन ने ट्वीट कर देश जनता द्वारा चुने हुए प्रधानमंत्री को बहुत ही भद्दी गाली दी है और अब लोग उसका तल्ख़ शब्दों में विरोध कर रहे हैं तो ये किसी बेशर्म की तरह अपनी बात को सही ठहराने पर तुला है!

इस देश को वामपंथी हमेशा से अपनी उंगलियों पर चलाना चाहते हैं और वामपंथियों की विचारधारा हमेशा से भारतीय संस्कृति को नष्ट करने की ही रही है चूंकि ये लोग पहले से ही कुछ जगह कब्ज़ा जमाये बैठे हैं जिस वजह से ये जिस बात को जैसे चाहें वैसे प्रचारित कर देते हैं! इन वामपंथियों के सारे एजेंडे हमेशा ही भारत को तोड़ने वाले और हिंदुत्व के खिलाफ ही होते हैं क्योंकि ये बात ये लोग अच्छी तरह जानते हैं कि हिंदुत्व संस्कृति में इन जैसे सांस्कृतिक आतंकियों के लिए कोई जगह नहीं है और इनके गंदे मंसूबों में ये लोग सफल भी नहीं हो सकते!

इन लोगों की सबसे बड़ी समस्या यह है कि ये अपने देश को कभी आगे बड़ते हुए नहीं देख सकते और न ही देश के सर्वोच्च पद पर बैठे प्रधानमंत्री की इज्जत कर सकते हैं क्योंकि ये पूरी तरह बौखला चुके हैं और अपना मानसिक संतुलन खो बैठे हैं इसलिए इतनी भद्दी भाषा के इस्तेमाल पर उतारू हो चुके हैं!

लेकिन अब लोग बर्दाश्त करने के मूड में नहीं है, और केस दर्ज कराने की बाते हो रही है;-

देखा जाये तो इस तरह के दुस्साहसी व्यक्ति को देशद्रोह के आरोप में तुरंत गिरफ्तार कर लेना चाहिए, आखिरकार ये इंसान प्रधानमंत्री को गाली देकर क्या जताना चाहता है कि जिस जनता ने देश के प्रधानमंत्री को चुना है वो जनता बेवकूफ तो नहीं है न? अगर वाकई में कोई समस्या है तो मर्यादित भाषा में तर्क करिए, पर ये जनाब अनाप सनाप खाकर स्वच्छ भारत में गंध फैलाने पर उतारू हैं!

और एक बात क्या अब रविश कुमार जैसे पत्रकार केजरीवाल से सवाल पूछेंगे की ऐसे व्यक्ति को आप क्यों फॉलो करते हो? नहीं पूछेंगे क्युकी रविश कुमार की पत्रकारिता के अंतगर्त यह मामला नहीं आता वो तो सिर्फ मोदी और बीजेपी से सवाल करने के लिए पत्रकारिता करते है!