संबित पात्रा BJP की ओर से बोले- हम मंदिर वहीं बनाएंगे, फिर कांग्रेस प्रवक्ता को पिद्दी-पिद्दी कहकर खूब चिढ़ाया!

कल अयोध्या मसले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई थी और मुस्लिमो का पक्ष रखने के लिए कांग्रेस के नेता कपिल सिब्बल पैरवी कर रहे थे! कपिल सिब्बल के वकील होने की वजह से बीजेपी कांग्रेस को इस मुद्दे पर घेरती नजर आ रही है! और यहाँ भी ऐसा ही कुछ हुआ जब एक समाचार चैनल के डिबेट शो में बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा और कांग्रेस के नेता अखिलेश प्रताप सिंह में जमकर बहस और भिड़ंत हुई! कांग्रेस नेताओ को समझ नहीं आ रहा है की कपिल सिब्बल के मुद्दे पर वो किस तरह पार्टी का बचाव करे जिससे हिन्दू वोट उनके खेमे से दूर न जाये!

आज तक चॅनेल पर संबित और अखिलेश प्रताप सिंह की ये भिड़ंत देख शायद किसी की भी हंसी छूट जाए! क्युकी संबित ने पहले तो अखिलेश प्रताप को राम मंदिर और सिब्बल के मुद्दे पर जमकर लताड़ा और बाद में उन्हें पिद्दी पिद्दी लखकर खूब चिढ़ाया! दरअसल मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या मामले पर सुनवाई हुई! सुनवाई इस बात पर हुई कि इस मामले का कोर्ट में रोजाना ट्रायल हो! कोर्ट ने इस मामले की सुनवाई की आखिरी तारीख 8 फरवरी 2018 तय की है!

सुप्रीम कोर्ट में सुन्नी वक्फ बोर्ड की तरफ से पैरवी कर रहे कपिल सिब्बल ने कहा कि इस मामले की सुनवाई जुलाई 2019 के बाद की जाये, क्युकी 2019 में लोकसभा इलेक्शन है और इसका असर चुनाव पर पड़ेगा! उन्होंने ये भी कह की जब भी इस मामले की सुनवाई होती है तो कोर्ट के बाहर गंभीर प्रतिक्रियाएं आती हैं! हलाकि की कोर्ट ने सिबल के अपील को ख़ारिज करे दिया! इसी मुद्दे पर हिंदी समाचार चैनल आज तक पर एक डिबेट शो का प्रोग्राम रखा गया था! इस प्रोग्राम मे AIMIM के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी के साथ ही बीजेपी के संबित पात्रा और कांग्रेस की तरफ से अखिलेश प्रताप सिंह मौजूद थे!

आज तक के शो में असदुद्दीन ओवैसी की बात का जवाब देते हुए संबित पात्रा ने कहा कि मैं बीजेपी का प्रवक्ता होने के नाते सीना ठोक के कहता हूं कि हम मंदिर वहीं बनाएंगे! संबित पात्रा ने कांग्रेस के प्रवक्ता अखिलेश प्रताप सिंह पर तंज कस्ते हुए कह की आप भी हिन्दू है, क्या ये बात आप बोल सकते हो कि मंदिर वहीं बनना चाहिए या नहीं! संबित के इस सवाल पर अखिलेश सिंह बोल पड़े अरे लल्ला सुनो मैं जवाब दे रहा हूं, मेरा जवाब सुनकर फुदकना मत! लेकिन संबित पत्रा कहा चुप रहे वाले थे उन्होंने अखिलेश प्रताप सिंह को खूब लताड़ा और पिद्दी पिद्दी कह कर चिढ़ाया!

उसके बाद जो हुआ वो आप खुद देख लिजिए