‘आप’ के संजय सिंह PM मोदी के खिलाफ गए थे दिल्ली हाईकोर्ट, कोर्ट ने लगाई फटकार तो कपिल मिश्रा ने भी ली चुटकी!

एक पुरानी कहावत है कि, “नक़ल के लिए अकल की ज़रूरत होती है” बहुत से लोग जहाँ इस बात को जान और मान चुके हैं वहीँ अभी भी कुछ लोग ऐसे रह गए हैं जिन्हें नक़ल करने में तो बड़ा मज़ा आता है लेकिन नक़ल के लिए अकल वाली बात उनके पल्ले नहीं पड़ती. ऐसा ही एक मामला सामने आया है जिसे जानने के बाद आप भी नक़ल-अकल वाली बात को अच्छे से समझ जायेंगे. दरअसल हुआ ये कि हाल ही में आम आदमी पार्टी के बागी विधायक कपिल मिश्रा ने दिल्ली हाईकोर्ट में अरविन्द केजरीवाल के सदन में अनुपस्थिति के खिलाफ एक याचिका दायर की थी.

Loading...

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सदन में ज्यादातर उपस्थित न रहने को लेकर आम आदमी पार्टी (आप) के बागी विधायक कपिल मिश्रा ने दिल्ली हाई कोर्ट में एक याचिका दायर की! अपनी याचिका में कपिल मिश्रा ने दिल्ली सीएम के खिलाफ ये आरोप लगाया था कि, ‘विधानसभा की विशेष सत्र में अरविन्द केजरीवाल एक भी दिन मौजूद नहीं थे. इसके अलावा कपिल मिश्रा ने इस सन्दर्भ में उनकी सैलरी काटने की मांग की थी. कपिल मिश्रा ने आगे ये भी कहा था कि बीते साल कुल 27 बैठकों में से केजरीवाल सिर्फ 5 बैठक में मौजूद थे और बाकी में नादारत!

Loading...

कपिल मिश्रा की इस याचिका के जवाब में कोर्ट ने इसे स्वीकार कर लिया. बताया जा रहा है कि बीते मंगलवार को इस मुद्दे पर सुनवाई भी हुई. ऐसे में कपिल मिश्रा का देखा-देखी संजय सिंह ने भी ऐसा ही कदम उठाने की कोशिश कर डाली, लेकिन नकल के लिए वो यहाँ अकल लगाना भूल गए शायद. मिली जानकारी के अनुसार बताया जा रहा है कि कपिल मिश्रा के बाद संजय सिंह ने भी पीएम मोदी के खिलाफ सेम यही याचिका दायर की, सदन में ज्यादातर उपस्थित न रहने को लेकर लेकिन यहाँ कोर्ट ने इसका जो जवाब दिया उसे सुनकर आपको भी हैरानी होगी.

कोर्ट ने संजय सिंह को दिया ये जवाब
बताया जा रहा है कि संजय सिंह की याचिका पर दिल्ली हाईकोर्ट ने संजय सिंह को जमकर फटकार लगायी है. इस मुद्दे पर न्यायमूर्ती संगीता ढींगरा सहगल और न्यायमूर्ति सी हरिशंकर ने कहा कि, “संजय सिंह द्वारा देश के प्रधानमंत्री के ख़िलाफ़ डाली गयी ये याचिका कानूनी प्रक्रिया का मजाक उड़ाना जैसा है. सिर्फ इतना ही नहीं हम तो ऐसा नहीं कर रहे लेकिन राजनीति से प्रेरित अगर भविष्य में ऐसी कोई भी याचिका आती है तो इसपर जुर्माना लगा देना चाहिए.” इसके अलावा पीठ ने संजय सिंह को चेतावनी भी दी है और कहा है कि इस तरह का भद्दा मजाक उन्हें भविष्य में करना महंगा भी पड़ सकता है.

संजय सिंह की इसी गलती पर कपिल मिश्रा ने ली चुटकी: बता दें जैसे ही इस बात की भनक कपिल मिश्रा को लगी उन्होंने संजय सिंह पर चुटकी लेते हुए एक ट्वीट किया जिसमें उन्होंने लिखा कि, “संजय सिंह जी, नक़ल करने के लिए भी अकल की ज़रूरत होती है.”

संजय सिंह के इस कदम से सवाल तो कई खड़े होते हैं लेकिन उनमें से एक सबसे बड़ा सवाल ये है कि क्या सिर्फ अपनी गलतियाँ छुपाने के लिए देश के प्रधानमंत्री पर इस तरह का कीचड़ उछालना वाजिब है? क्या इस तरह की घटिया राजनीति लोगों को शोभा देती है?

loading...