पुराने भाजपाई निकले शहजाद पूनावाला, कांग्रेस के नेता ने तश्वीर शेयर कर कहा- घर वापसी हो गई!

कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष पद के लिए होने वाले चुनाव की प्रक्रिया पर सवाल उठाने के बाद से महाराष्ट्र कांग्रेस के नेता शहजाद पूनावाला सुर्खियों में हैं! राहुल गाँधी के अध्यक्ष चुने जाने को लेकर शहजाद ने अपना रुख साफ कर दिया था की वो वंशवाद के खिलाफ अपनी लड़ाई लड़ते रहेंगे! कांग्रेस ने अभी तक आधिकारिक तौर पर उन्हें पार्टी से निकालने की घोषणा नहीं की है. लेकिन उन्हें सोशल मीडिया और व्हाट्सप्प के सभी ग्रुप से निकाल दिया गया है! और तो और जब उन्होंने कांग्रेस ऑफिस में फ़ोन किया तो उनको अपमानित करते हुए कहा गया की आप कांग्रेस पार्टी के सदस्य नहीं हो!

अब शहजाद पूनावाला के कहानी में एक नया मोड आए गया है! हमेशा की तरह कांग्रेस ने शहजाद को भी बीजेपी का एजेंट करार दे दिया है! कांग्रेस नेता गौरव पांधी ने अपने वेरीफाइड ट्विटर अकाउंट से कुछ तश्वीरे शेयर की है! हगौरव पांधी कांग्रेस से जुड़े पॉलिटिकल एक्टिविस्ट है! तस्वीर ट्वीट करते हुए पांधी ने लिखा है, ‘ओह, मैं नहीं जानता था कि शहजाद पूनावाला ने अपना राजनीतिक करियर बीजेपी कार्यकर्ता के रूप में शुरू किया था. इस तस्वीर में वह बीजेपी नेता गोपीनाथ मुंडे के साथ खड़े हैं.’ उन्होंने आगे लिखा है- फिर तो ये घर वापसी हुई? या ‘AAP’ की नजरों ने समझा प्यार के काबिल तुम्हे? यहां पांधी ने पूनावाला को आप के साथ जाने की संभावना पर भी कटाक्ष किया है!

बता दें कि गोपीनाथ मुंडे भाजपा के महाराष्ट्र इकाई के बरिष्ट नेता थे! वो मई 2014 में केंद्र में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार में केंद्रीय मंत्री बने थे, लेकिन दुर्भाग्यवश 3 जून 2014 को दिल्ली में एक सड़क दुर्घटना में उनकी मृत्यु हो गई थी! अब जो तश्वीर दिखाई जा रही है उसमे साफ़ तौर पर पूनावाला को देखा जा सकता है गोपी नाथ मुंडे के साथ! इससे पहले, शहजाद पूनावाला ने कांग्रेस अध्यक्ष पद चुनाव के लिए राहुल की उम्मीदवारी पर सवाल खड़े किए थे! उन्होंने कहा था कि ये इलेक्शन नहीं सिलेक्शन है! वह खुद राहुल के खिलाफ लड़ना चाहते थे!

कांग्रेस द्वारा किये गए अपमान के बाद शहजाद ट्वीट कर लिखा था- आज मैंने अच्छे दोस्त की पहचान कर ली है, आज तक मैं प्रधानमंत्री मोदी की आलोचना करता था उसके बावजूद भी नरेन्द्र मोदी जी ने मेरी तारीफ की लेकिन वंशवादी और गुलामी के प्रतीक राहुल गाँधी जिसकी मैंने 8-9 साल तक सेवा की उन्होंने मुझे पार्टी से निकाल दिया. वंशवादी के DNA में आपातकाल लौट आया है!उन्होंने यह भी कहा कि यही राहुल गाँधी अरुण शूरी और यशवंत सिन्हा के मोदी विरोधी बयानों पर ख़ुशी बनाते थे और आज मेरे साथ ऐसा बर्ताव किया जा रहा है!