प्रशांत पटेल ने ‘अंग दान’ की हकीकत बताई तो वबाल मच गया था, सईद किरमानी ने धर्म का मामला बता किया इंकार..

कुछ दिनों पहले मशहूर वकील प्रशांत पटेल ने अंग दान के आकड़े पेश करते हुए ट्विटर पर हकीकत वयान किया था! तब सेक्युलर प्रजाति के लोगो ने खूब हो-हल्ला मचाया था और प्रशांत पटेल के ऊपर नफरत फ़ैलाने का इल्जाम लगाया था! लेकिन हकीकत यही है की लेना हराम नहीं है लेकिन जब अंग दान करने को कहा जाता है तो धर्म बिच में आ जाता है!

भारत के पूर्व क्रिकेट खिलाडी जो की विकेट कीपर भी थे नाम – सईद किरमानी, सईद किरमानी ने एक ऐसी हरकत की है जो वाकई शर्मनाक है, सईद किरमानी ने ये भी साफ़ कर दिया की इन जैसे लोगों को कितना भी मान सम्मान मिले, पर मानसिकता इनकी धर्म पहले वाली ही रहती है!

सईद किरमानी चेन्नई में एक नेत्र दान शिविर में गए, ये शिविर चेन्नई के राजन EYE केयर हॉस्पिटल में लगा हुआ था, किरमानी यहाँ पर अस्पताल के मालिक डॉक्टर मोहन राजन के साथ गए थे, यहाँ पर बहुत से मीडिया वाले भी आये हुए थे, और नेत्र दान शिविर में किरमानी ने कहा की, मैं अपनी आँखों का दान करूँगा, और आप सब भी कीजिये, ये एक अच्छा काम है और मानवता की सेवा है!

किरमानी ने सबके सामने ये भी कहा की डाक्टर मोहन राजन एक अच्छा काम कर रहे है, जिन लोगों की आँखें नहीं होती वो ही आँख की कीमत को समझ सकते है, हमे अपनी आँखों का दान करना चाहिए, मैं अपनी आँखों का दान करूँगा और आप भी अपनी आँखों का दान कीजिये ताकि किसी को आँखों की रौशनी मिल सके !

लोगों के सामने किरमानी ने बड़ी बड़ी बातें कह दी और आँख दान करने की कसम भी खाई, पर बाद में किरमानी आँख दान की बात से मुकर गए और वजह बताई की ये तो उनके मजहब के खिलाफ है!

बाद में आँख दान की बात पूछे जाने पर किरमानी ने कहा की, मैं एक भावुक व्यक्ति हूँ, मैंने आँख दान की बात कर दी, पर अब मैं अपनी बात को पूरी नहीं कर सकता, कारण पूछे जाने पर किरमानी ने कहा की क्यूंकि अंग दान करना मेरे मजहब के खिलाफ है इसलिए मैं आँख दान नहीं करूँगा