BSF जवान तेज बहादुर यादव को बनाया गया ‘प्लंबर’

0
176


नई दिल्ली: BSF जवान तेज बहादुर यादव ने घटिया कहना का विडियो वायरल कर आला अधिकारियो को कटघरे में खड़ा करने का काम किया है, अब इस खबर में कितनी सचाई है ये तो जाँच की रिपोर्ट सामने आने पर ही पता चलेगा! लेकिन BSF की तरफ से जवान के खिलाफ एक्शन लेते हुए उन्हें दूसरी यूनिट में ट्रांसफर किया गया है, जहां उन्हें प्लंबर का काम दिया गया है! ऐसे में सवाल उठता है लाजमी है की क्या जवान को सच बोलने की सज़ा दी गई है या उन्होंने कोई गलती की है!

हलाकि बीएसएफ की तरफ से कहा गया है कि किसी भी जवान को ड्यूटी के दौरान मोबाइल का इस्तेमाल करने की इजाजत नहीं है और तेजबहादुर यादव ने मोबाइल इस्तेमाल करके नियमो का उलंघन किया है, और यही वजह है की उनपर कार्रवाई की गई है! कहा जा रहा है कि तेज बहादुर पहले भी नियमो को ताक पर रखते रहे है और उन्हें कई बार सजा भी हो चुकी है! खबरों के मुताबिक वो पहले भी प्लंबर का काम कर चुके हैं!

एक नजर अबतक की घटनाक्रम पर

  • BSF में खराब खाने की विडियो सोशल वेब्सीटेस पर डालने और पोल खोलने वाले जवान तेज बहादुर को अब दूसरी यूनिट में भेज दिया गया है और उन्हें प्लम्बर की ड्यूटी दी गयी है, जबकि उस यूनिट के मेस कमांडेट को इस विडियो के बाद छुट्टी पर पर जाने का आदेश दिया गया है!
  • तेज बहादुर के इस विडियो के बाद बहुत सी खबरे सुनने को मिल रही है की वो पॉपुलर होना चाहते है, वो VRS ले रहे है इत्यादि, एक बात जो अहम् है जी की बीएसएफ की तरफ से बताया गया है कि तेज बहादुर यादव को अनुशासनहीनता और एक वरिष्ठ अधिकारी पर बंदूक तानने के लिए 2010 में कोर्ट मार्शल किया जा चुका है!
  • पिछले बीस साल की सेवा में तेज बहादुर यादव को चार बार कड़ी सजा मिल चुकी है, जिसके तहत उन्हें क्वार्टर गार्ड में भी रखा जा चुका है!
  • तेज बहादुक पर नशे में ड्यूटी करना, सीनियर का आदेश न मानना, बिना बताए ड्यूटी से गायब रहना और कमांडेंट पर बंदूक तानने तक का भी आरोप लगा था!
  • ABP News channel से बात करते हुए तेज बहादुर मानते हैं कि उन्हें सजा मिल चुकी है, लेकिन वह ये भी दावा कर रहे हैं कि उन्हें 16 बार सम्मानित भी किया जा चुका है!
  • जवान ने फेसबुक पर अपनी वीडियो जारी कर खराब खाने और राशन घोटाले का आरोप लगाया था!
Share with Friends
FacebookTwitterGoogle+

NO COMMENTS